About Us

यहाँ पर रूहानियत से फैज़ ए आम होता बा फैज़े औलिया अल्लाह, इस में क़ुरआन ए करीम की आयतें तय्येबात, असमाऊल हुस्ना, और दीगर वज़ाइफ़ और दुआओं से हर क़िस्म की परेशानी, जादू टोना, आफत बलैय्यात, तंगदस्ती, बीमारी, मुसीबत, तकलीफ, दुःख, दर्द, रंज व अलम, डर व खौफ, से निजात का हल यहाँ मौजूद हैं, अल्लाह तबारक व ता’अला की बेपनाह दुआओं और बुज़ुर्गों की नज़रे करम से यहाँ फैज़ ऐ आम है, यहाँ के फैज़ को अल्लाह तबारक व ता’अला उम्मते मुस्लमान के लिए इसफादा (फायदा) का बाइस बनाये और इस काविश को क़ुबूल फरमायें – आखिर में एक बार फिर अल्लाह ता’अला की जनाब में दुआगो हूँ के वोह अपने हबीब पाक मुहम्मदुर्रसूलल्लाह सल्लल्लाहु ता’अला अलैहि वसल्लम तमाम अम्बिया सिद्दिक्विन शोहदा सालेहीन (अलैहिमुस्सलाम व रदिअल्लाहु अन्हुम), के सदके व तुफैल पूरी उम्मत की तमाम परेशानियाँ, दुःख, तकलीफ, रंज व ग़म, मुसीबत जल्द दूर फरमा दें- आमीन या रब्बल आलामीन !

अलअर्ज़ :- मोहम्मद अज़हर अशरफ़ी साहब

(दरबार ऐ अशरफिया)